एकजुट विपक्ष की दूसरी संयुक्त रैली में बरसीं मायावती, कहा- ‘नमो-नमो’ जाएंगे, ‘जय भीम’ आएंगे

उत्तर प्रदेश की राजनीति में अली और बजरंगबली बने हुए हैं। अब बहुजन समाज पार्टी की मुखिया मायावती ने इस पर बयान दिया है। उन्होंने कहा, ‘हमारे अली भी हैं और बजरंगबली भी। उत्तर प्रदेश से योगी की पार्टी को ना अली का वोट मिलेगा और ना ही मेरी जाति से जुड़े बजरंगबली का।’ उन्होंने कहा कि ‘नमो नमो’ वाले जा रहे हैं और ‘जय भीम’ वाले आ रहे हैं।

मायावती ने कहा, ‘हमारे अली और बजरंगबली दोनों हैं। बजरंगबली इसलिए भी चाहिए क्योंकि ये मेरी दलित जाति से जुड़े हैं, इनकी जाति की खोज मैंने नहीं की, खुद यूपी सीएम ने की है।’ बदायूं में सपा उम्मीदवार धर्मेंद्र यादव के समर्थन में एक रैली में उन्होंने ऐसा कहा।

उन्होंने हमारे वंशज के बारे में हमें बहुत खास जानकारी दी है। ऐसी स्थिति में हमारे लिए खुशी की बात ये है कि अब हमारे पास अली भी हैं और बजरंगबली भी हैं जिनके गठजोड़ से इस चुनाव में हमें काफी अच्छा परिणाम मिलने वाला है।’

इससे पहले उन्होंने ट्वीट कर कहा था, रामनवमी की देश व प्रदेशवासियों को बधाई व शुभकामनाएं तथा उनके जीवन में सुख व शांति की कुदरत से प्रार्थना। ऐसे समय में जब लोग श्रीराम के आदर्शों का स्मरण कर रहे हैं तब चुनावी स्वार्थ हेतु बजरंग बली व अली का विवाद व टकराव पैदा करने वाली सत्ताधारी ताकतों से सावधान रहना है।’

योगी आदित्यनाथ ने एक रैली में कहा था, ‘अगर कांग्रेस, सपा, बसपा को अली पर विश्वास है तो हमें भी बजरंग बली पर विश्वास है।’ योगी ने देवबंद में बसपा प्रमुख मायावती के उस भाषण की तरफ इशारा करते हुए यह टिप्पणी की थी जिसमें मायावती ने मुस्लिमों से सपा-बसपा गठबंधन को वोट देने की अपील की थी।

अपने-अपने बयानों के लिए चुनाव आयोग ने दोनों ही नेताओं को कारण बताओ नोटिस जारी किया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *