रायबरेली भी अब एम्स के पहुँच जाने से हुआ गोरान्वित, रजिस्ट्रेशन हुए शुरू

किसी भी देश का विकास बातों से नही दृढ़ इक्षाशक्ति से होता है ऐसा ही कुछ साबित कर दिखाया है भारतीय जनता पार्टी की सरकार ने यूपीए की अध्यक्ष सोनिया गांधी के संसदीय क्षेत्र रायबरेली में, जहाँ पर वर्षों से निर्माणाधीन एम्स में पहले तो ओपीडी की शुरुआत की गई और उसके बाद एक वर्ष के अंतराल में ही यंहा एमबीबीएस की पढ़ाई की शुरुआत भी होने जा रही है जिसकी प्रक्रिया की शुरुआत हो चुकी है।

अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) रायबरेली में अगस्त माह से एमबीबीएस की पढाई शुरू करने के लिए प्रक्रिया की शुरुआत हो चुकी है। जहाँ एक और एम्स चंडीगढ़ में रायबरेली एम्स की फैकल्टी चयनित की जा रही है तो वहीं दूसरी ओर दिल्ली एम्स में एमबीबीएस की पहली काउंसलिंग के बाद रायबरेली एम्स में एमबीबीएस के दाखिले के लिए चयनित बच्चे अपना रिजिस्ट्रेशन कराने पहुंच रहे हैं। जिसके बाद अगस्त माह से यहां एमबीबीएस के पहले बैच की पढाई शुरू हो जाएगी और यह एम्स रायबरेली का गौरवपूर्ण वक़्त होगा।

दरअसल यूपीए सरकार के पहले कार्यकाल में वर्ष ‘2007 में एम्स रायबरेली स्वीकृत हुआ था लेकिन जमीन मिलने में ही पांच साल बीत गए। वर्ष ‘2012 में जमीन अधिग्रहीत हो पाई। वर्ष ‘2013 में एम्स-रायबरेली का शिलान्यास सोनिया गांधी ने किया था।

जिसके बाद सबसे पहले ओपीडी का निर्माण हो गया लेकिन यह शुरू नही हो पाया। लोकसभा चुनाव के पहले अप्रैल 2018 में रायबरेली पंहुचे उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जल्द ही ओपीडी शुरू कराने का ऐलान किया। जिसके बाद अगस्त 2018 में यहाँ ओपीडी शुरू हो गई। उसके बाद अंततः यहाँ पढ़ाई की भी शुरुआत हो रही है जिसकी प्रक्रिया शुरू हो गई है, रायबरेली एम्स में एमबीबीएस के प्रथम बैच के लिए स्वीकृत 50 छात्रों की पढ़ाई अगस्त माह से शुरू हो जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *