क्या सामुहिक विवाह कराना गलत है?

भ्रष्टाचार की जड़े इतनी मजबूत होती जा रही है की उन्होंने आज भगवान की पूजा में लीन होने वाले एक पंडित को भी नहीं छोड़ा। पंडित उन भ्रष्टाचारिओं के खिलाफ अनशन पर बेठे हुए है जिन सरकारी बाबु के कारण उन्हें दफ्तर के चक्कर लगाने पड़ रहे हैं। साईं मंदिर के पंडित का कहना है की जब तक गरीब कन्याओं को उनका हक़ नहीं दिलवा देते तब तक वो अनशन पर बेठे रहेंगे।

बरेली में सांई मंदिर के पुजारी पंडित सुशील पाठक सामूहिक विवाह योजना में कमीशनखोरी के विरोध में आमरण अनशन पर बैठे हैं। पाठक जी का कहना उन्होंने सामूहिक विवाह योजना के तहत 34 कन्याओ का विवाह करवाया था। जिसकी पेमेंट के लिए पाठक जी सीडीओ और समाज कल्याण अधिकारी के चक्कर लगा लगा कर परेशान हो गए लेकिन पेमेंट नही हुआ।

पंडित शुशील पाठक का आरोप है कि अधिकारियों का कहना है कि वह गरीब कन्याओं के लिए सामान अधिकारियों के द्वारा बताई गई विशेष दुकान से सामान ले, जहां मार्किट से महंगा समान था। लेकिन उन्होंने सामान नही लिया जिससे अधिकारियों ने उनसे अपना हिस्सा देने की बात कही जिसको न देने पर उन्होंने कन्याओ के नाम से आने वाले धन पर अड़ंगा लगा दिया। सुशील पाठक का कहना है कि जब तक गरीब कन्याओ को उनका हक दिलवा नही देते तब तक वो अनशन पर बैठे रहेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *