गोकशी न रोकने के लिए बुलंदशहर का पुलिस प्रशासन जिम्मेदार-रिपोर्ट

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर जांच के लिए बुलंदशहर गए एडीजी इंटेलीजेंस एसबी शिरडकर ने अपनी रिपोर्ट में जिले के पुलिस प्रशासन को कठघरे में खड़ा किया है। रिपोर्ट में कहा गया है कि पुलिस गोकशी रोक पाने में नाकाम रही। इसमें इंस्पेक्टर स्याना सुबोध कुमार सिंह और ग्रामीण सुमित की हत्या एक ही रिवाल्वर से होने की आशंका जताई गई है। पड़ताल में आया है कि सुबोध की निजी लाइसेंसी रिवाल्वर भीड़ ने छीन ली और उसी से उन्हें गोली मारी गई।

सूत्रों के अनुसार एडीजी इंटेलीजेंस ने अपनी जांच रिपोर्ट डीजीपी को सौंप दी है। उन्हें मामले की प्रारंभिक जांच के लिए महज 48 घंटे का वक्त दिया गया था। जिले के स्याना थाना क्षेत्र में गोकशी की घटना के विरोध में भड़की हिंसा एवं इस संबंध में दर्ज किए गए सभी मुकदमों की विवेचना आईजी रेंज मेरठ रामकुमार की अध्यक्षता में गठित एसआईटी कर रही है।

सूत्रों का दावा है कि एडीजी इंटेलीजेंस ने अपनी रिपोर्ट में इस रहस्य से भी पर्दा उठाने की कोशिश की है कि पथराव करने वाली भीड़ का हिस्सा माने गए सुमित और इंस्पेक्टर स्याना सुबोध कुमार सिंह को कैसे गोली मारी गई? पोस्टमार्टम रिपोर्ट के आधार पर इस तथ्य का खुलासा पहले ही हो गया था कि दोनों को 0.32 बोर की गोली मारी गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *