कोर्ट में पेश हुए पूर्व प्रदेश अध्यक्ष, जानें क्या थी वजह

देहरादून: यहां साल 2009 में विधानसभा चुनाव हुए थे। जिसमें घेराव के मामले पर उत्तराखंड में कांग्रेस के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष किशोर उपाध्याय की कोर्ट में पेशी हुई है। कोर्ट में हाजरी लगाने के बाद किशोर उपाध्याय ने मीडिया से बातचीत की जिस दौरान उन्होंने पुलिस प्रशासन पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि 2007 से 2012 तक के कार्यकाल में तत्कालीन सरकार के भ्रष्टाचार के खिलाफ हमने विरोध प्रदर्शन किया था। लेकिन पुलिस हमारे विरोध प्रदर्शन के खिलाफ खड़ी हो गई थी। जिसके बाद पुलिस ने इस प्रदर्शन पर विभिन्न धाराओं में मुकदमें दर्ज किए थे, लेकिन इस विरोध प्रदर्शन में कई बड़े नेता भी शामिल थे।

दरअसल भ्रष्टाचार के विरोध प्रदर्शन में विजय बहुगुणा, इंदिरा ह्रदयेश, हरीश रावत, के साथ-साथ कई और बड़े नेता भी थे। जिस वजह से इन बड़े नेताओं के खिलाफ कोई मुकदमा दर्ज नहीं किया गया था। बता दें कि 20 दिसंबर 2009 को पार्टी कार्यकर्ताओं ने विधानसभा का घेराव किया था। तब राज्य में भाजपा की सरकार थी। मामले में सभी के खिलाफ नेहरू कॉलोनी थाने में अभियोग पंजीकृत किया गया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *