ममता बनर्जी के शहर में मारपीट से परेशान डॉक्टरो ने जमकर किया विरोध प्रदर्शन

पश्चिम बंगाल के मेडिकल कॉलेज में जूनियर डॉक्टर के साथ कि गई मारपीट के विरोध में इलाहाबाद मेडिकल कॉलेज के जूनियर डॉक्टरों ने हड़ताल शुरू कर दी है। मेडिकल कॉलेज से सम्बद्ध स्वरूप रानी नेहरू हॉस्पिटल के जूनियर डॉक्टरों ने हॉस्पिटल की ओपीडी सहित पर्चा बनने के काउंटरों को बंद करा दिया है।

हड़ताल की घोषणा के बाद सभी जूनियर डॉक्टरों ने हॉस्पिटल कैम्पस में काली पट्टी बांध कर विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिया है । नाराज जूनियर डॉक्टरों ने पं बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के खिलाफ भी जम कर नारेबाजी की और कहा है कि अगर हमलोगों की सुरक्षा सहित अन्य मांगों को नही माना जाता है तो हॉस्पिटल की इमरजेंसी सेवा जो अभी चल रही है उसे भी बंद कर दिया जाएगा। SRN हॉस्पिटल में हड़ताली जूनियर डॉक्टरों ने विरोध मार्च भी निकाला और हॉस्पिटल के बाहर सभी मेडिकल स्टोर को भी जबरन बंद कर दिया। प्रयागराज में जूनियर डॉक्टरों की इस अचानक हड़ताल से दूर दराज से इलाज कराने आये सैकड़ो मरीजो को बिना इलाज के मजबूरन घर वापस जाना पड़ा तो वहीं बड़ी संख्या में मरीज व उनके परिजन इस आशा में बैठे है कि शायद हड़ताल खत्म हो जाये तो इलाज करा सकें।

बहराल पश्चिम बंगाल से शुरू हुई जूनियर डॉक्टरों की हड़ताल को अब देशभर के डॉक्टरों का समर्थन मिल रहा है। बंगाल में जूनियर डॉक्टरों के साथ हुई मारपीट की घटना से इलाहाबाद मेडिकल एसोसिएशन में भी नाराजगी व गु्स्सा है जिसके चलते शहर के सभी प्राइवेट चिकित्सको ने भी आज काली पट्टी बांध कर विरोध जता रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *