सपा-बसपा ने किया गठबंधन का ऐलान, 38-38 सीटों पर लड़ेंगे लोकसभा का चुनाव

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के दो प्रभावशाली राजनीतिक दल, समाजवादी पार्टी (सपा) एवं बहुजन समाज पार्टी (बसपा) का आज गठबंधन हो गया। एक पत्रकार वर्ता के दौरान दोनों दलों के प्रमुखों ने गठबंधन का ऐलान किया। इस समझौते के तहत बसपा व सपा 38-38 सीटों पर लोकसभा का चुनाव लड़ेंगे। बीएसपी सुप्रीमो ने प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान कम से कम 2 बार काफी जोर देकर 1995 के गेस्ट हाउस कांड का जिक्र किया और कहा कि उनकी पार्टी ने जनहित के लिए उसे भूलकर एसपी के साथ गठबंधन का फैसला किया है।

2019 के लोकसभा चुनाव में गठबंधन के तहत दोनों दल कुल 76 सीटों पर अपने-अपने उम्मीदवार उतारेंगे। दो सीटें कांग्रेस के लिए छोड़ी गयी है। ये दोनों सीटें कांग्रेस की पारंपरिक, रायबरेली और अमेठी की सीटें हैं। इन दो सीटों पर गठबंधन अपना उम्मीदवर खड़ा नहीं करेगा। इसके अलावा गठबंधन ने दो सीट अन्य दलों के लिए रखा है। इसके तहत यदि भविष्य में कोई पार्टी गठबंधन के साथ जुड़ती है तो उसे दो सीटें दी जाएगी।

शनिवार को करीब 25 साल बाद एक बार फिर दोनों दल साथ आने का ऐतिहासिक ऐलान किया। एसपी अध्यक्ष अखिलेश यादव के साथ संयुक्त प्रेस कॉन्फ्रेंस में बीएसपी मुखिया मायावती ने इसका ऐलान किया। यूपी की 80 लोकसभा सीटों में से 38-38 पर एसपी-बीएसपी चुनाव लड़ेंगी। गठबंधन से कांग्रेस को फिलहाल बाहर रखा गया है लेकिन गांधी परिवार के परंपरागत गढ़ अमेठी और रायबरेली में गठबंधन उम्मीदवार नहीं उतारेगा।

मायावती ने कहा कि बाकी 2 सीटें अन्य दलों के लिए रखा गया है। बीएसपी सुप्रीमो ने कहा कि जिस तरह 1993 में हमने साथ मिलकर बीजेपी को हराया था, वैसे ही इस बार उसे हराएंगे। पीएम दावेदार कौन होगा, इस सवाल को अखिलेश ने चतुराई से टालते हुए कहा कि यूपी से प्रधानमंत्री बने, यह तो अच्छा ही रहेगा।

बीएसपी सुप्रीमो ने प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान कम से कम 2 बार काफी जोर देकर 1995 के गेस्ट हाउस कांड का जिक्र किया और कहा कि उनकी पार्टी ने जनहित के लिए उसे भूलकर एसपी के साथ गठबंधन का फैसला किया है। मायावती ने कहा, लोहियाजी के रास्ते पर चल रही समाजवादी पार्टी के साथ 1993 में मान्यवर कांशीराम और मुलायम सिंह यादव द्वारा गठबंधन करके चुनाव लड़ा गया था। हवा का रुख बदलते हुए बीजेपी जैसी घोर सांप्रदायिक और जातिवादी पार्टी को हराकर सरकार बनी थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *