फिर शुरू हुआ टीपू जयंती पर संग्राम, 10 नवंबर को हंगामे के आसार

कर्नाटक विधानसभा में विपक्ष के नेता एवं भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) प्रदेश अध्यक्ष बी एस येद्दियुरप्पा ने गुरुवार को यहां कहा कि राज्य में जनता दल (सेक्युलर)- कांग्रेस गठबंधन सरकार की ओर से 10 नवंबर को 19वीं शताब्दी के योद्धा टीपू सुल्तान की जयंती मनाने के विरोध में नौ नवंबर को पार्टी जोरदार प्रदर्शन करेगी।

येद्दियुरप्पा ने कहा कि गठबंधन सरकार का यह आयोजन लोगों की भावनाओं के साथ खिलवाड़ है। उन्होंने यहां बाजपे हवाई अड्डे पर संवाददाताओं से कहा, हम टीपू जयंती समारोह का विरोध करते हैं। इस समारोह की कोई सराहना नहीं करेगा। जनभावनाओं को ध्यान में रखते हुए राज्य सरकार को इसे नहीं मनाना चाहिए। टीपू जयंती मनाने के पीछे सरकार का इरादा मुस्लिम समुदाय को महज संतुष्ट करना है। भाजपा नेता सबरीमाला रथ यात्रा में भाग लेने के लिए बंदरगाह के शहर में आये हैं। पूर्व मंत्री और लौह अयस्क बैरन जनार्दन रेड्डी के बेल्लारी में और बेंगलुरु में एक मनी लाँडरिंग मामले में कथित तौर पर शामिल होने के मामले में केन्द्रीय अपराध शाखा के छापे क बारे में पूछे गए प्रश्न का उत्तर देते हुए येद्दियुप्पा ने कहा कि वह इससे समहत नहीं हैं कि बेल्लारी लोकसभा उपचुनाव में भाजपा की हार के बाद राज्य सरकार रेड्डी को लक्ष्य बना रही है।

उन्होंने कहा, जिसने गलत किया, उस पर मुकदमा चलाया जाना चाहिये। सब कुछ कानून के अनुसार चल रहा है। येद्दियुरप्पा ने दोहराया कि खनिज समृद्ध बेल्लारी में अवैध खनन घोटाले में रेड्डी की गिरफ्तारी के बाद पार्टी में उनके लिए कोई जगह नहीं है, वह भाजपा नेता नहीं थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *