मशहूर स्पोर्ट्स कंपनी ‘स्पार्टन’ हुई डिफॉल्‍टर, डूब सकता है सचिन समेत कई क्रिकेटरों का पैसा

सिडनी: ऑस्ट्रेलिया की एक स्पोर्ट्स कंपनी को लेकर स्थानीय अदालत द्वारा लिए गए एक फैसले से कई मौजूदा और पूर्व क्रिकेटरों के सामने आर्थिक संकट खड़ा कर दिया है। अदालत ने सिडनी स्थित मशहूर स्पोर्ट्स कंपनी ‘स्पार्टन’ द्वारा बकाए का भुगतान नहीं करने पर इसे बेचने का फरमान सुनाया है। अदालत के इस फैसले से इस कंपनी के साथ करार करने वाले कई क्रिकेटरों को कॉन्ट्रैक्ट के तहत मिलने वाली पेमेंट पर भी अब अनिश्चिचतता के बादल मंडरा रहे हैं।

बता दें कि स्पार्टन के साथ एमएस धोनी, सचिन तेंदुलकर, क्रिस गेल और इयोन मॉर्गन जैसे दिग्गजों समेत करीब 30 क्रिकेटरों ने करार किया हुआ है। अब यदि अदालत के फैसले के तहत स्पार्टन कंपनी से जुड़ी एक कंपनी को लिक्विडेटिड कर दिया जाता है, तो इन क्रिकेटर्स का करार का पैसा डूब सकता है।

खबरों से मिली जानकारी के मुताबिक, सिडनी स्थित कंपनी में भारतीय कारोबारी कुणाल शर्मा साझेदार हैं। इस कंपनी ने क्रिकेट की दुनिया के कई बडे़ नामों के साथ करोड़ों रुपए का करार किया हुआ है। कंपनी द्वारा पैसों का भुगतान ना किए जाने का खुलासा उस वक्त हुआ, जब ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान माइकल क्लार्क ने पेमेंट ना मिलने पर अपने बैट पर कंपनी के लोगो का इस्तेमाल करना बंद कर दिया था।

भारत के महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर ने तो स्पार्टन के साथ मिलकर कुछ साल पहले ही स्पार्टन स्पोर्ट्सवीयर और क्रिकेट इक्वीपमेंट लॉन्च किया था। अब कंपनी के लिक्विडेटिड करने के अदालती आदेश के बाद खिलाड़ियों के सामने पेमेंट का संकट खड़ा हो गया है। इसी तरह पूर्व भारतीय कप्तान एमएस धोनी को भी कंपनी ने बैट स्पॉन्सरशिप के चलते साल 2013 से 2016 के बीच 4 किस्त में करीब 20 करोड़ रुपए का भुगतान किया, लेकिन इसके बाद कंपनी डिफॉल्ट होने के चलते पेमेंट नहीं कर पाई। गौरतलब है कि स्पार्टन स्पोर्ट्स पर करीब 60 करोड़ रुपए बकाया है। ऐसे में यदि कंपनी के खिलाफ लिक्विडेशन की प्रक्रिया शुरु होती है तो क्रिकेटरों के करोड़ो रुपए डूबने लगभग तय माने जा रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *