मोदी के साथ ‘नीतीश’ कुमार, तेजस्वी के तेज की परीक्षा

बिहार में एनडीए (NDA) के बीच सीटों का बंटवारा होने के बाद अब यह भी फाइनल हो गया है कि कौन सी पार्टी, किस सीट पर चुनाव लड़ेगी। रविवार को पटना में हुई साझा प्रेस कॉन्फ्रेंस में इसका ऐलान किया गया। दिलचस्प बात ये है कि भारतीय जनता पार्टी के खाते वाली भागलपुर व नवादा सीट अब उसके सहयोगियों के पास चली गई हैं। प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए बिहार जेडीयू के अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह ने भारतीय जनता पार्टी, जनता दल यूनाइटेड और लोक जनशक्ति पार्टी के खाते की सभी सीटों का ऐलान किया. गठबंधन फॉर्मूले के तहत बीजेपी और जेडीयू के खाते में 17-17 व एलजेपी के पास 6 सीटे हैं।

गठबंधन फॉर्मूले के तहत जो 17 सीटें जनता दल यूनाइटेड को मिली हैं, उनमें भागलपुर व नवादा भी शामिल हैं। नवादा सीट से बीजेपी के सिटिंग सांसद गिरिराज सिंह हैं, लेकिन अब यह सीट एलजेपी के पास चली गई है। अब चर्चा है कि गिरिराज को बेगुसराय से टिकट मिल सकता है। दूसरी तरफ पार्टी के मुस्लिम चेहरे और राष्ट्रीय प्रवक्ता शाहनवाज हुसैन की भागलपुर सीट भी बीजेपी के पास नहीं रही। अब यह सीट जेडीयू को मिल गई है। ऐसे में शाहनवाज हुसैन को किस सीट से उतारा जाएगा, इसे लेकर भी गहमागहमी है। यहां तक कि शाहनवाज समर्थकों का गुस्सा भी सामने आने लगा है। शाहनवाज हुसैन 2004 में हुए उपचुनाव में यहां से जीते थे, इसके बाद 2009 में भी वह यहां से सांसद बने। हालांकि, 2014 में वो महज 8 हजार वोट से हार गए। लेकिन शाहनवाज हुसैन हार के बाद भी भागलपुर का दौरा करते रहे। अब जबकि उनका टिकट यहां से न होने की खबर सामने आई तो बीजेपी कार्यकर्ताओं में मायूसी भी देखने को मिली।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *